ATM Card क्या होता है, Debit और Credit Card में क्या अन्तर है, VIsa , Rupay और Master Card में कौन सा सबसे अच्छा है



 आज हम प्लास्टिक Money बारे में समझेंगे, जो ATM कार्ड में आता है, इसे Basicaly दो भाग में बाँटा गया है | एक Debit Card और दूसरा Credit Card. ATM Card का पूरा नाम Automated Teller Machine है |

 इन दोनों में क्या अन्तर होता है , और आपने देखा होगा Debit Card पर Visa , Rupayऔर Master Card लिखा होता है | इसमें से कौन सा बेहतर होता है इन सबके बारे में हम आपको पूरा Detailed में बताएँगे | जिससे आपके सारे  Doubt खत्म हो जाये |

 

ATM Card का इतिहास –

 Atm Card की खोज 1967 में Enfeild, Landon में किया गया था, इसके खोजकर्ता का नाम John Sheperd – Barron ने किया था | इनका जन्म 23 June 1925 में Shillong, INDIA में हुआ था , एक प्रकार से ये भारतीय थे |

 पहले ज़माने में पैसा उतारने के लिए बैंक जाना पड़ता था , वहाँ  जाने के बाद एक Withdraw Form भरना पड़ता था या चेक भर के , उसके बाद लाइन लगानी पड़ती थी फिर पैसे मिलते थे | जिसमे सभी लोगों को ज्यादा समय लगता था , इसी समय को बचाने के लिए ही ATM Card का उपयोग करतें हैं | लेकिन इसमें एक बात सबसे अच्छी थी की ये सबसे ज्यादा Secure Withdraw System था |

 

ATM Card के प्रकार –

 अगर ATM Cardके प्रकार की बात की जाये तो ये Basically 2 प्रकार के होतें हैं |

  • Dabit Card
  • Credit Card

 

Debit Card –

 Dabit  Card क्या होता है ? ये हमारे पैसे खुद के बैंक में जमा पैसे को निकालने का एक रास्ता है | एक बात जानने की है की ये पैसा हमारे बैंक में जमा होता है नहीं की ATM Card में होता है | बैंक जो हमें Card देती है वो Debit Card होता है. इससे हम दिन में कभी भी या दूसरे रूप में 24 घण्टे कभी भी पैसे उतार सकतें हैं. Debit Card ज्यादा Secure होता है , Credit Card की तुलना में. इसमें आपको कई प्रकार के Security देखने को मिलती है जैसे – ATM Card Number , Expiry Date और CVV Code ( Card Varification Number ).

 

Credit Card –

 पहले जब हम लोन लेने जाते थे तब हमें बहुत ज्यादा व्याज या रिश्तेदारों से पैसे मांगना इसमें व्याज से 5 से 10 % मांगते हैं लेकिन बैंक काफी कम % पर आपको  व्याज देता है. ये आपको पुरे पैसे का साल भर का होता है जबकि बाहर आप किसी से लेते हैं तो हर महीनें का देना पड़ता है. लेकिन  बैंक में लोन लेनें  तो आपको काफी ज्यादा इन्तजार करना पड़ता है और साथ में घुस भी देना पड़ जाता है कई बार, इसी चीज को दूर करने के लिए Credit Card लाया गए. इसमें आपको काफी ज्यादा कम समय लगता है और आपको लोन लेने में  दिक्क्त और समय की बचत हो जाती है |

  हालाकिं ये कार्ड सभी को नहीं दिया जाता है, बैंक उन्ही को देता जिसपे उन्हें भरोसा होता है की वे लौटा देंगे । शुरुआत में उपयोगकर्ता को 25000 तक का ही लोन दिया जाता है, लेकिन बाद में इसे बढ़ा कर 3 लाख तक कर दिया जाता है. इसमें अच्छी बात ये है की 30 – 40 दिन तक आपको कोई व्याज नहीं देना पड़ता है. लेकिन ये निर्भर करना है अलग – अलग बैंक के नियमों पर.

 Debit Card की तुलना में आपको Credit Card में अच्छे Offer देखने को मिलतें हैं. अक्सर आप Shoping Application Flipkart या Amazon में Product पर 5 से 10 % का Discount देखने को मिलता है. इसमें आप ATM Card से पैसे नहीं निकाल सकते क्योंकि इसमें PENALTY लगती है.

 

Advantage Of ATM Card –

पैसा उतरने कम समय लगना |

 

Disadvantage Of ATM Card

Hack होना

 

Advantage Of Bank Withdraw System –

ये काफी Secure होता है. इसमें Hack होने का Chance बिलकुल नहीं होता है.

आपके पैसे को सिर्फ आप ही उतार सकतें हैं बशर्ते आप किसी को Cheque ना दियें हों.

काफी लोगों को रोजगार मिलना.

 

Disadvantage Of Bank Withdraw System

पैसा उतारने के लिए काफी लम्बी लाइन में लगना.

अगर आप Cheque उपयोग कर रहें तो इसमें काफ़ी ज्यादा दिन लग जातें हैं.

हर दिन पैसे नहीं उतार पाना.

बैंक में भी काफ़ी खर्च  जैसे – Bank Staff And Member

 


अब हम आपको Card के नीचे लिखे हुए Visa , Rupay , Master Card के बारे में बताएंगे

 जब Starting में ATM Card को Introduce किया गया था तब,केवल जिस बैंक का ATM होता था उसी बैंक के ATM से पैसे उतार सकते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है | इसमें अगर कोई भी व्यक्ति जब SBI का ATM Card लेकर दूसरे किसी बैंक के ATM में जाता था और वो SBI का Card उपयोग करता था तो उसे Invalid Card का Massage आता था, इसमें समस्या ये थी की आपकी सारी detail आपके बैंक के पास होती थी जिससे दूसरे बैंक का ATM मशीन नहीं आपके detail को नहीं जान पाता था और आपको पैसे नहीं मिलते थे |

 ऐसा इस लिए भी होता था की अगर कोई बैंक वाला आपके detail को दूसरे बैंक में दे – दे तो दूसरा वाला बैंक ये चाहेगा की आप उसके Customer बन जाये इसी लिए कोई भी बैंक वाला आपकी डिटेल दूसरे बैंक को नहीं देता था |

 इसी को दूर करने के लिए एक Network का उपयोग किया गया जिसका नाम है Card Network. इसमें अलग – अलग बैंक अपने Customer का डेटा एक Specific कम्पनी को दिया जाता है जैसे RUPAY, VISA और MASTER. ये आपके Data को अपने पास रखती हैं और किसी भी अन्य बैंको को नहीं देती हैं.

इसी लिए जब आप अपने पैसे उतारने दूसरे बैंक के ATM  जातें है तो  आपकी Detail बैंक से ना मांग कर RUPAY, VISA और MASTER से मांगता है, ये आपकी detail उतनी ही देतें हैं जितना पैसे उतारने के  जरूरत पड़ती है | और इस तरह से आप पैसे निकाल पातें हैं |  इनका काम ये भी होता है की जब आपका Card खो जाता है तो ये उसे Block कर देतें हैं |

 

RUPAY, VISA और MASTER कौन सा अच्छा है

VISA ये USA की कम्पनी है और भारत में ये 50 % मार्केट CAPTURE किया हुआ है.

MASTER ये USA की कम्पनी है और भारत में ये 30 % मार्केट CAPTURE किया हुआ है.

RUPAY ये INDIA की कम्पनी है और भारत में ये 20 % मार्केट CAPTURE किया हुआ.

atm-car-rupay-master-card-visa-card-debit-card-credit-card-payment-card-international-credit-card-hdfc-credit-card-amazon-credit-card-americanexpress-sbi-credit-card-hdfc-credit-card-payment-visa-gift-card-citibank-credit-card-sbi-credit-card-payment-citi-credit-card-best-credit-cards-american-express-credit-card-hsbc-credit-card-sbi-card-payment-icici-credit-card-rbl-credit-card-payment-axis-bank-credit-card-icici-credit-card-payment-hdfc-netbanking-credit-card-flipkart-axis-bank-credit-card-citibank-credit-card-payment


VISA और MASTER ये दोनों कंम्पनी ये कहती हैं की ये आपका पैसा विदेशों  में भी उतारने की अनुमति देतीं है लेकिन भारत ने अपना RUPAY Card को सिर्फ भारत में उपयोग के लिए बनाया है लेकिन RUPAY में अगर आप Playtinum उपयोग करेंगे तो ये आपको विदेशों में भी पैसा उतारने की अनुमति देती है ।

 एक बात इनमें ये है कि RUPAY Card को छोड़कर बाकी दोनों कंपनियां साल भर के 500 ₹ आपके Account से ले लेती है.

Leave a Comment