Final year के विद्यार्थी परीक्षाओ के लिए रहे तैयार,सुप्रीम कोर्ट

 परीक्षाओ के लिए रहे तैयार,सुप्रीम कोर्ट-


Final year एग्जाम (UGC) के गाइडलाइन 2020 – फाइनल ईयर के एग्जाम को लेके सुप्रीम कोर्ट का फैसला जल्दी ही आएगा। इस मामले की लास्ट सुनवाई 18 अगस्त को हुई थी जिसमे सुप्रीम कोर्ट ने अपना अंतिम सुनवाई के लिए राज्य सरकारों को 3 दिन तक का समय दिया है। आने वाले दिन कल लास्ट ईयर की एग्जाम की सुनवाई होगी। कॉलेज के स्टूडेंट्स और टीचर्स एग्जाम मामले को लेके चिंतित हैं,की एग्जाम कराये जाएंगे या नहीं । स्टूडेंट्स एंड टीचरो का कहना है कि अंतिम वर्ष या अंतिम सेमेस्टर के बेस पर नम्बर देने की मांग की जा रही है।

UGC गाइडलाइंस 2020 क्या है- UGC के गाइडलाइंस 2020 के लिए UGC ने कहा कि एग्जाम कराना जरूरी है,जिसका विरोध राज्य सरकार और यूनिवर्सिटी दोनो सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाये। आपको बता दे कि UGC ने 30 सितम्बर तक सभी एग्जाम कराने को कहा है। कोरोना महामारी को देखते हुए 1st year,2nd year and 3rd year के बच्चों को उनके अंतिम एग्जाम के बेस पर नम्बर दे दिया गया ।

बच्चो ने क्या कहा एग्जाम परफाइनल ईयर के बच्चों का कहना है कि उनके जूनियर स्टूडेंट्स को जिस बेस पर नम्बर दिया गया है उसी बेस पर उनको भी नम्बर दिया जाए जिसका विरोध फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स भी करने लगे।बच्चों का कहना है कि उनको डिग्री का सर्टिफिकेट चाहिए, डेथ सर्टिफिकेट नहीं।

 बच्चों का पक्ष रखने वाले वक़ील ने क्या कहा- बच्चो का पछ रखने वाले वकील ने कहा कि जब क्लास ही नहीं चली तो बच्चे एग्जाम कैसे देंगे। वकील ने कहा कि कुछ बच्चे ऑनलाइन क्लासेस भी नही अटेंड किया तो वो एग्जाम कैसे दे पाएंगे।

UGC ने क्या कहा – इस बहस को देखते हुए UGC ने कि बच्चो को कहा की वो अभी इस मुद्दे पर ज्यादा ध्यान मत दे और अपनी परीक्षा पर ध्यान दे।

ये पोस्ट आपको कैसी लगी हमे जरूर बताये, धन्यवाद।

Leave a Comment