Chia Seeds Benefits In Hindi | चिया बीज के फायदे और नुकसान

 चिया बीज (Chia Seeds In Hindi) : चिया बीज (Chia Seeds) हमारे शरीर के लिए बहुत लाभकारी होता है। इसमें बहुत सारे खनिज लवण जैसे – विटामिन्स, मिनिरल्स, फाइबर और प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है। चिया के बीज के उपयोग से आप बहुत सारी बीमारियों के लिए लिया जाता है.

 चिया बीज के निरंतर उपयोग से आप पाचन संबंधी समस्या, बालों का झड़ना, ज्यादा वजन की समस्या , चेहरे की समस्या आदि की समस्या में इसका उपयोग किया जाता है। अगर आप हमेशा स्वस्थ रहना चाहते है तो आपको चिया के बीज के फायदे (Chia Seeds Ke Fayde)के बारे में जरूर जाना चाहिए। जिससे आप इस समस्याओं के निजाद पा सके। इस आर्टिकल में मैं आपको चिया के बीज खाने के फायदे, (Chia Seeds Benefits in Hindi) के बारे में ही बताऊंगा।

 

चिया बीज के फायदे (Benefits Of Chia Seeds) : चिया के बीज के अंदर कैल्शियम, पोटेशयाम, मैग्नीशियम, की मात्रा होती है जो कि शरीर के लिए फायदेमंद होता है।

 

चिया सीड क्या होता है?

चिया सीड क्या है – चिया बीज एक स्पेशल कटेगरी के पौधे के बीज होते हैं. जो मिन्ट (Mint) फैमली से संबंध रखता है और इसका ओरिजन (Origin) है – मैक्सिकन (Mexican), ये काले और भूरे रंग के बीज होते है. जिसके अंदर सफेद रंग के धब्बे पाए जाते हैं. इसके फायदे ढेरों हैं जिसे आप गिन भी नहीं सकते हैं. सबसे पहले मैं आपको चिया बीज के फायदे बताऊंगा फिर आपको बताऊंगा की इसे लेना कैसे है. 

चिया के बीज भारतीय नाम (Meaning Of Chia Seed In Hindi)

चिया के बीज हिंदी में अर्थ : चिया सीड जिसे भारत में सब्जा (SABZA) नाम से भी जाना जाता है. ये तीन रंगों में पाए जाते हैं – काला , सफेद और भूरा. इसमें कैल्सियम दूध से भी कहीं बहुत ज्यादा होता है. 

 




 

चिया सीड खाने के फायदे 

1. हड्डियों के मजबूती में

 चिया बीज का सबसे बड़ा फायदा यह है की ये एक Nutrients Dense Food है. इसी लिए इसे सुपर फ़ूड का दर्जा दिया गया है. ये Essential Nutrients भरपूर है. जैसे – मैग्नीशियम, फास्फोरस, और कैल्शियम. कैल्सियम आपके हड्डियों के लिए बहुत ही अच्छा है. 

2. नए सेल्स बनाने में 

 चिया सीड का दूसरा फायदा यह है की ये Quercetin से भरपूर है. जोकि एक एंटीऑक्सीडेंट है. ये आपके शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है और डीजनरेशन होने से रोकता है, साथ ही नई सेल्स को बनने में मदद भी करता है.

3. त्वचा के लिए (Benefits Of Chia Seeds For Skin)

 तीसरा सबसे बड़ा फायदा यह है की इसके अंदर ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड पाया जाता है. जो हमारे शरीर के त्वचा के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं. अगर आप मांस नहीं खाते हैं. तो चिया बीज खाने से आपके शरीर में न्यूट्रिएंट की मात्रा आ जाएगी. ये आपके शरीर को Moisturizes करता है. और Anti-Aging Effect डालता है. 

4. तुरंत ताकत के लिए 

चौथा फायदा यह है की ये फाइबर की मात्रा से भरपूर होता है. जिसके कारण लम्बे समय तक भूख नहीं लगती. और ये आपके शरीर को ताकत भी प्रदान करता है. इसे लेने से आपका डाइजेशन बूस्ट हो जाता है. और अगर आपका डाइजेशन बढियाँ है, तब आपका वजन भी आसानी से कम हो जायेगा। 

5. प्रोटीन के लिए

चिया के बीज में प्रोटीन की मात्रा भी पायी जाती है. अगर आप शाकाहारी हैं, तब आपके लिए प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत किया का बीज ही है.

6. मधुमेह में चिया के बीज

मधुमेह में भी डॉक्टर द्वारा चिया बीज लेने की सलाह दी जाती है, इससे मधुमेह का संतुलन बना रहता है और आपको कोई समस्या नहीं होती है. 

7. वजन घटाने के लिए चिया के बीज का उपयोग करें

चिया बीज के उपयोग से आपका वजन बहुत ही जल्द समान्य हो जायेगा. और आप अगर बहुत ज्यादा मोटे हैं, तब आप पतले व स्लिम हो जायेंगे.

 जिन लोगों को पीसीओएस (PCOS), बीपी (Blood Presure), थायराइड, कोलेस्ट्रॉल या त्वचा एलर्जी जैसी कोई भी समस्या है, वे लोग को चिया सीड को अपने डेली डाइट में लेना चाहिए. चिया बीज बहुत ज्यादा उपयोगी है मेटाबोलिक सिंड्रोम वाले लोगों के लिए. यदि आपका डाइजेशन ठीक ढंग से नहीं होता, और आप परेशान रहते हैं, तब चिया बीज आपके लिए बहुतही ज्यादा फायदेमंद हो सकता है. 

 




 

वजन घटाने के लिए चिया सीड्स का उपयोग कैसे करें (How To Eat Chia Seeds For Weight Loss)

वजन घटाने के लिए चिया के बीज का उपयोग करें : अक्सर आपने सुना होगा की चिया बीज आपके वजन को कम करने में बहुत मदद कर सकता है. ये बात बिलकुल सही है. क्योकि चिया बीज एक सुपर फ़ूड है और इसके वेट लॉस बेनिफ्ट्स भी बहुत होते हैं. लेकिन अक्सर लोगों को चिया सीड खाने का तरीका पता नहीं होता और सही समय भी पता नहीं होता. 

अधिकतर लोग दूसरों की बातों में आकर खरीद तो लेते हैं, लेकिन सही ढंग से इसका उपयोग नहीं कर पाते जिसके कारण वे पतले और वजन कम नहीं कर पाते. इसे लेने के जिन तरीकों के बारे में बताऊंगा उससे आपका वजन कम तो होगा ही साथ ही स्वास्थ्य भी बेहतर होगा. 

इसे भी देखे : लीची खाने के फायदे

चिया सीड कैसे खाएं?

चिया सीड खाने का तरीका : चिया बीज के खाने के 2 तरीके तरीके हैं. आप इसे राव (Raw) या सोक (Soak) करके किसी भी तरीके से ले सकते हैं. अगर आप इसे सोक करके लेते हैं, तो कम से कम 2-3 घण्टे तक भीगा के लेते हैं, तो ये 10 गुना ज्यादा फूल जाता है. जिस पानी में आप भिगोते हैं, उसे ये बीज पूरा सोख लेता है. और ये जेल जैसा दिखाई देता है. जो आपके लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है. क्योकिं ये आपके शरीर को डीहाइड्रेशन (Dehydration) से बचाता है. 
 अगर आप इसे भीगा कर नहीं खाएंगे तो आप सोच सकते हैं, की ये आपके पेट में जा के जितना भी पानी है, उसका उपयोग करके फुल जायेगा. आपको पता ही होगा की हमारे शरीर को पानी की कितना जरूरत होता है. इसीलिए अगर आप वजन घटाने के लिए किया बीज का उपयोग करना चाह रहे हैं तो आपको इसे भीगा कर ही खाना चाहिए. रॉव फॉर्म में नहीं लेना है. 
 वैसे तो चिया बीज को खाने और उसकी रेसिपी बनाने के भी ढेरों रेसिपी है. जिनके बारे में मेरे साईट पर आपको ये जानकारी मिल जाएगी. वैसे आप इसे आप नीबू पानी, लस्सी या छांछ किसी में भी ऊपर से मिला कर आप इसे ले सकते हैं. 

चिया के बीज कैसे खाएं और कब 

 चिया सीड्स को लेने के तरीक और फायदे तो आप जान ही गए होंगे लेकिन आपको ये जानना बेहद जरूरी है की इसे लेना कब है. मैं आपको इसको खाने का सबसे अच्छा समय बताऊँ तो, इसका सबसे अच्छा समय है, सुबह में वो भी खाली पेट. इसे आप रात भर भिगो के रख सकते हैं. और पीने से पहले आप अगर नीबू की कुछ बूंदें मिला देते हैं तब, ये आपके शरीर में बहुत ही जल्दी पच जायेगा. 
 आपको चाहिए की सुबह उठने के ठीक बाद बिना ब्रश किये खली पेट लें. इसका सबसे बड़ा फायदा ये है की ये आपके मेटाबोलिज्म (Metabolism) को तेज कर देता है. इसे लेने से आपको काफी समय तक ये महसूस होगा की आपका पेट भरा है, और भूख भी कम लगेगी. जितना भी खाना आप खा रहे हैं पुरे दिन, उसमें का न्यूट्रिएंट्स भी आपको भरपूर मिलेगा. इसी तरह का चिया सुपर फ़ूड को लेके अपना न्यूट्रिएंट्स भी बढ़ा सकते है. 

चिया के बीज कितना खाएं

चिया के बीज लाभ (Chia Seeds Benefits In Hindi) : आपने ये जान लिया है की किया बीज कब खाना है और इसके फायदे के बारे में भी भली भांति जान चुके हैं. लेकिन ये आपको जानना बेहद जरूरी है, की कितना मात्रा में चिया बीज को लेना चाहिए.
 
पुरे दिन या 24 घटे में आप 2 टेबल चम्मच चिया बीज को ले सकते हैं. लेकिन यहां 2 टेबल चम्मच रॉ की नहीं सोक की बात हो रही है. जिसके अंदर होती है पुरे 16 कैलोरीज.




2 TBSP  SOAKED Chia Seeds

कैलोरीज़ (Calories) 16 KCAL
कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) 1.4 Gms
फाइबर्स (Fibers) 1.1 Gms
प्रोटीन (Protein) 0.5 Gms
फैट (Fat) 1 Gms

 1 ग्राम फैट जो आपके शरीर को बहुत ही ज्यादा जरूरी है, क्योकि ये एक हेल्दी फाइट है. जितनी भी घुलनशील विटामिन्स हैं जैसे ADEK उनको शरीर में घुलने के लिए इन हेल्दी फैटका सहारा लेना पड़ता है. अब मैंने आपको चिया बीज से सम्बंधित सभी जानकारियां लगभग दे ही दी हैं, तो आज ही इसका पैकेट लाइए और अपना वजन कम करिये. 

 

चिया के बीज की खेती

  • चिया सीड (बीज) यानी “मैक्सिको का सुपरफूड चिया” की खेती किसानों को काफी लुभा रही हैं। हम आप को बता दे की चिया सीड की खेती किसानों के लिए फायदे का सौदा साबित हो रही हैं।
  • चिया में प्रोटीन, फाइबर, फैट, जिंक, ओमेगा-3 और ओमेगा-6 अदि पोषक तत्व पाए जाते हैं। ओमेगा-3 शाकाहारी लोगों के लिए विशेषकर लाभदायक है क्योंकि इसमें मांसहारी भोजन से तीन गुना अधिक प्रोटीन पाया जाता है।
  • जलवायु: चिया की उन्नत खेती के लिए शुष्क जलवायु की आवश्यकता होती हैं।
  • तापमान: चिया की खेती के लिए 8-30 डिग्री सेल्सियस तापमान पर जरुरत होती हैं।
  • भूमि: चिया की खेती सभी तरह की मिट्टी में की जा सकती है।
  • भूमि की तैयारी: चिया सीड की खेती के लिए खेत को 3-4 जुताई कर समतल बना ले।
  • खाद एवं उर्वरक: चिया सीड की खेती से अच्छी उपज के लिए कम्पोस्ट या गोबर की सड़ी खाद 5-6 टन प्रति एकड़ की दर से, खेत की आखरी जुताई के समय डालें। इसके अलावा सिंगल सुपर फास्फेट 100 किलो और म्यूरेट ऑफ पोटाश 15 किलो प्रति एकड़ की दर से आवश्यकता पड़ती है।
  • चिया सीड बुआई के 25-30 दिनों के बाद खेत में नमी की अवस्था में 50 किलो यूरिया प्रति एकड़ की दर से खेत में डालें।
  • उन्नत किस्में: चिया की दस नई प्रजातियों पर अभी अनुसंधान चल रहा है।
  • बुआई का समय: चिया की खेती खरीफ में जून-जुलाई और रबी में अक्टूबर-नवम्बर महीने में की जाती है। बुआई की विधि आप अपनी आवश्यकता अनुसार बुआई कर सकते हैं.
  • छिड़काव विधि: बीज को रेत या राख में मिलकर छिड़काव करे।
  • कतार/बैड विधि: पंक्ति से पंक्ति की दूरी 40-45 सेंटीमीटर और पौधे से पौधे की बिच की दूरी 25-30 सेंटीमीटर पर रोपाई करे, प्रति एकड़ लगभग 1.5 किलो बीज की आवश्यकता होती है।
  • बीज उपचार: एक किलोग्राम बीज को 2.5 ग्राम थीरम की दर से उपचारित करे।
  • सिंचाई: पूरी फसल में लगभग 5-6 पानी लगता है। पहला पानी फसल लगने के तुरंत बाद और उसके बाद मौषम एवं मिट्टी में नमी को देखते हुए 10 दिनों के अंतराल पर सिंचाई करते रहना चाहिए। पानी मिट्टी के हिसाब से कम या ज्यादा लग सकता है।
  • गिराई-गुड़ाई: चिया की अच्छी पैदावार के लिए 3-4 निराई-गुड़ाई की आवश्यकता होती है।
  • कटाई: चिया की फसल लगभग 90-120 दिनों में पककर तैयार हो जाती है।
  • उपज: चिया का पौधा लगभग 5-6 कुंतल प्रति एकड़ बीज प्राप्त होता है।

चिया के बीज कीमत (Chia Seeds Price In India)

चिया सीड का दाम आपको अलग-अलग ब्रांड के अपनी के अनुसार मिलता है, बाज़ार में ये बहुत ही कम लोगों के पास मिलता है. 200 ग्राम चिया बीज की कीमत 150 रूपये से 250 रूपये तक हो सकती है. चिया बीज के लिए आपको मैंने 2 बढ़िया कम्पनी के LINKS दिए हैं जिन्हे आप खरीद सकते हैं. चिया के बीज पतंजलि कीमत –

 




 

1. NourishVitals Chia Raw Unroasted Seeds
NourishVitals Chia Raw Unroasted Seeds
Buy Here From Amazon
2. True Elements Chia Seeds 250g 
True Elements Chia Seeds 250g

चिया बीज के कुछ अन्य नाम

Chia Seeds In Telugu చియా విత్తనాలు (Ciyā vittanālu)
Chia Seeds In Tamil சியா விதைகள் (Ciyā vitaikaḷ)
Chia Seeds In Marathi चिया बियाणे (Ciyā biyāṇē)
Chia Seeds In Kannada ಚಿಯಾ ಬೀಜಗಳು (Ciyā bījagaḷu)
Chia Seeds In Bengali চিয়া বীজ (Ciẏā bīja)
Chia Seeds In Hindi Name सब्जा (SABZA)
Chia Seeds In Malayalam ചിയ വിത്തുകൾ (ciya vittukaḷ)
Chia Seeds Benefits Hair, Fat, diabetes Etc.

निष्कर्ष

मैंने आपको इस आर्टिकल में चिया बीज खाने का तरीका के बारे में बताया हूँ. साथ ही चिया सीड के फायदे के बारे में भी जिक्र किया हूँ. चिया सीड के फायदे और नुकसान को जान कर आप इसे सही तरीके से अपनी डायट में लें. चिया के बीज की कीमत बहुत कम नहीं है और ना ही ज्यादा इसी लिए आप इसे खरीद सकते हैं. चिया बीज लाभ बहुत सारे हैं, जिन्हे एक ही आर्टिकल में बताना सम्भव नहीं है. इस आर्टिकल को पढ़ कर आप भली भातिं समझ गए होंगे की चिया सीड्स क्या है, और चिया के बीज का उपयोग कैसे करें.

Leave a Comment