[ 16 फायदे ] खाली पेट पपीता खाने के फायदे और नुकसान

पपीता (Papaya Fruit) फल देखने में ही नहीं, बल्कि खाने में भी बहुत स्वादिस्ट होता है, पपीता के सेवन से बीमारियां आपके पास भी नहीं आयेंगी और आप लम्बे समय तक नीरोग रहेंगे। पपीता Carica Papaya के फैमली से आता है। पपीते का सेवन हमारे आयुर्वेद में कई बीमारियों के इलाज में किया जाता है। पपीता को हम आसानी से खरीद सकते हैं और इसे अपने घर पर उगा भी सकते हैं। इस पोस्ट के माध्यम से मैं आपको पपीता खाने के फायदे और उसके गुणों के बारे में बताऊंगा।

पपीता खाना फायदेमंद तो होता ही है, लेकिन कुछ समय यह आपको नुकसान भी पहुँचा सकता है, इसीलिए मैंने आपको बताया है की आपको पपीता का सेवन कब नहीं करना चाहिए।

पपीता खाने के फायदे
पपीता में मौजूद पोषक तत्व
रात को पपीता खाने के फायदे
सुबह-सुबह खाली पेट पपीता खाने के फायदे
पपीता की खेती की जानकारी

इसे भी देखें – 




Table of Contents

पपीता खाने के फायदे –

1. खाने को पचाने में –

पका पपीता अत्यंत ही स्वादिष्ट होता है। आजकल पपीते को मसाले से भी पकाया जाता है, यह हानिकारक होता है। डाल के पके पपीते का जैम, मुरब्बा आदि भी बनाकर सेवन किया जाता है और इसके फलों से हल्के पेय भी तैयार किए जाते हैं। यह बहुत ही पौष्टिक और पाचक फल है, छोटे बच्चे, बुजुर्ग को पपीता सबसे ज्यादा खिलाना चाहिए।

पपीते में उपलब्ध विटामिन ‘सी’ के कारण स्कर्वी रोग का निवारण होता है। पपीते के छोटे-छोटे टुकड़े करके उसमें जीरा, सेंधा नमक और नींबू का रस मिलाकर खाने से कब्ज और अजीर्ण संबंधी परेशानी का निवारण होता है और पाचन शक्ति बढ़ती है।

2. कब्ज के लिए पपीता (Papaya For Constipation)-

इसका प्रतिदिन सेवन करने से कब्ज और बवासीर से छुटकारा मिलता है। पपीता के सेवन से बवासीर में बहुत जल्द आराम मिलता है और आप अपने को ताजगी महसूस करते है। भोजन के बाद रोजाना पका पपीता खाने से कब्ज का निदान होता है। कब्ज के निवारण से बवासीर रोग हो, तो वह भी नष्ट हो जाता है।

3. ऋतुस्राव में (Menstruation)-

 ऋतुस्राव में अधिक रक्तस्राव होने पर महिला को शारीरिक निर्बलता आ जाती है। ऐसी स्त्रियों को प्रतिदिन पपीते का सेवन करना चाहिए।

4. यकृत प्लीहा वृद्धि के रोगियों में –

कच्चे पपीते के तीन ग्राम दूध में शर्करा मिलाकर दिन में तीन बार सेवन करने से यकृत और प्लीहा वृद्धि के रोगियों को बहुत लाभ होता है। दूध और शर्करा के मिश्रण को जल के साथ सेवन करना चाहिए। स्कर्वी रोग में पपीता खाने से बहुत लाभ होता है।

5. बवासीर में पपीता –

बवासीर, आंतों के कीड़े एवं यकृत संबंधी रोगों में पपीता बहुत ही लाभकर है। कच्चा एवं पका-दोनों ही तरह का फल उपयोगी है। इसके अतिरिक्त पपीता हृदय-रोग, मूत्र-संबंधी रोग और मासिक धर्म संबंधी रोगों में भी गुणकारी है। पपीते का कच्चा फल सब्जी के रूप में प्रयोग किया जाता है और लोग इसे कच्चा भी खाते हैं। कच्चा पपीता भी खाने में स्वादिष्ट होता है और उदर रोगों का शमन करता है।

6. आंतों के लिए –

पपीता उदर विकारों के लिए गुणकारी फल होने के कारण, आंतों के जख्म को तेजी से नष्ट करके आंतों का अधिक शक्ति प्रदान करता है। इसके लिए सुबह खाली पेट और शाम के चार बजे पपीते का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए।

7. भूख न लगने पर

भूख न लगने पर पके हुए पपीते की चाट बनाकर नींबू रस डालकर सेवन करने से बहुत लाभ होता है। उदर में एकत्र आंव को पपीते के नियमित सेवन से आसानी से निकाला जा सकता है।

8. गर्भवती महिला के लिए (For Pregnant Woman)

पपीते में पाचन तंत्र मजबूत करने की ढेरों खूबियां होती हैं। वहीं जो लोग अपना वजन कम करने के लिए प्रयासरत हैं उनके लिए पपीता काफी लाभदायक होता है, क्योंकि इसमें कैलोरी कम फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है।

इसका जूस त्वचा का रंग निखारने और दाग, धब्बे दूर करने में भी सहायक है। इसके लिए पपीते का जूस बना कर भी आप पी सकते हैं।




पपीता में मौजूद पोषक तत्व

ऊर्जा जिंक
फैट मैंगनीज
फाइबर कॉपर
कार्बोहाइड्रेट सेलेनियम
प्रोटीन विटामिन A, B, B6
कैल्शियम फोलेट थायमिम
आयरन बीटा कैरोटिन
फॉस्फोरस नियासिन
मैग्नीशियम
9. त्वचा के लिए (For Skin)

पपीता तैलीय त्वचा के लिए व चेहरे की सुंदरता में चार चाँद लगा देता है, इसे खाने से आपकी ऑयली त्वचा को खत्म करता है। और उसे प्रकृतिक खूबसूरत करता है। अगर आपके त्वचा पर दाग-धब्बे हैं, तो आपको पपीते का सेवन करना चाहिए।

10. वजन कम करने के लिए (Papaya For Weight Loss)

(Papaya Good For Weight Loss) एक मध्यम आकार के पपीते में 120 कैलोरी होती है। अगर आप अपने वजन की समस्या से परेशान हैं, और उसे कम करना चाहते हैं, तो पपीता को अपने खाने में शामिल करें, मौजूद फाइबर वजन घटाने में आपकी मदद करेगा।

11. पपीता से पथरी का इलाज (Treatment of stone by Papaya)

अगर आपको भी पथरी यानि स्टोन (Stone) की समस्या है, तो आपके लिए पपीता बहुत ही लाभदायक है। इसके लिए आपको दिन में कम से कम 1बार 200 ग्राम से 300 ग्राम पका हुआ पपीता खाना चाहिए, इससे पथरी की समस्या में आपको आराम मिलेगा। पपीता अंदर मौजूद एंटीऑक्सीडेंट किडनी के मरीज़ों के लिए बहुत ही अच्छा है।

12. डायबटीज में पपीता (Papaya For Diabetic Patients)

Papaya good for diabetes

13. एसिडिटी की लिए (Acid Reflux)

एसिडिटी बढ़ते हुए उम्र में अक्सर लोगों को होता है, इसके लिए पपीता खाना आपके लिए सबसे अच्छा होगा। आपको एसिडिटी की समस्या कम होगी। (Papaya Good For Acid Reflux)

14. Immunity बढ़ाने में

अगर आपकी Immunity मजबूत है तो आप बहुत कम बीमार पड़ेंगे। इसीलिए बच्चों को पपीते के सेवन करना चाहिए। पापीते में विटामिन C की प्रचुर मात्रा होती है। इससे त्वचा नहीं खत्म हो जाती है।

15. आंखों की रोशनी बढ़ाने

पपीते में विटामिन A और विटामिन C की भरपूर मात्रा होती है। विटामिन A आपकी आँखों की रौशनी बढ़ाने में बहुत मदद करता है। अगर आपकी उम्र ज्यादा है तब आपको इसका सेवन अवश्य करें

16. पीरियड्स में

पपीता का सेवन उन महिलाओं और लड़कियों को खाने की सलाह दी जाती है जिनका पीरियड्स समय पर नहीं होता है, पपीता के सेवन से पीरियड्स सही समय पर आने लगता है।

इस तरह से कई तरह के रोगों से मुक्ति दिलाता है पपीता, साधारण सा फल”।

रात को पपीता खाने के फायदे

  • बुढ़ापे के लक्षणों को दूर करने में
  • कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में
  • कैंसर का खतरा कम करता है
PICTURE OF PAPAYA e1649419980121 1
पपीता का चित्र

 

सुबह-सुबह खाली पेट पपीता खाने के फायदे

  • पाचन को स्वस्थ्य रखता है
  • डायबिटीज के मरीजों के लिए अच्छा
  • दिल को स्वस्थ और मजबूत बनाने में

पपीता खाने में सावधानियाँ

  • पपीता और दूध का सेवन एक साथ भूलकर भी नहीं करना चाहिए ये आपके लिए हानिकारक हो सकता है। ऐसा करने से आपको दस्त हो सकता है।
  • डॉक्टर गर्भवती महिलाओं को पपीता खाने से मना करते हैं, क्योंकि पपीता के बीज और जड़ महिलाओं के भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकते हैं। पपीते के अंदर पपेन मौजूद होता है, पपेन शरीर की उस झिल्ली को नुकसान पहुंचा सकता है जो भ्रूण के विकास के लिए आवश्यक है।
  • दवाओं के सेवन के बाद आपको तुरंत बाद पपीता नहीं खाना चाहिए।




पपीता की खेती की जानकारी

पपीता के फायदों को देख कर आप, सोच रहे होंगे, की ये बहुत महंगा होगा, या इसे खरीदे कहाँ, इसका आसान जवाब यह है की, आप पपीता को अपने घर पर लगाएं, मैं आपको पपीता के खेती के बारे में कुछ जानकारी देता हूँ जिससे आपको मदद पहुँचेगी।

1. पपीता किस महीने में लगाएं – 

सबसे पहले आपके अंदर यह सवाल जरूर होगा की आप इसको किस महीने में लगाएं, पपीता को आप किसी भी महीने में लगा सकते हैं, लेकिन आपको कोशिस करना चाहिए की आप उसे बरसात के मौसम में लगाएं जिससे पौधे में ज्यादा तेजी से विकास हो और वो सूखे नहीं।

2. पपीता पेड़ रोग उपचार

जब आप पपीता का पौधा लगाते हैं, तो पपीता बढ़ते समय कुछ रोगों द्वारा प्रभावित हो सकता है। इसके लिए आपको बीच-बीच में कीटाणुनाशक दवाओं को छिड़काव करना चाहिए। ताकि पपीता स्वस्थ्य रहे और आपको अच्छा व ताजा फल दे सके।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न 1. प्रेगनेंसी में पपीता खाना चाहिए?
उत्तर – पपीते में पाचन तंत्र मजबूत करने की ढेरों खूबियां होती हैं। इसमें कैलोरी कम फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है, प्रेगनेंट महिला को पपीता खाना चाहिए।

प्रश्न 2. पपीता गर्म है या ठंडा?
उत्तर – पपीता शरीर में गर्मी पैदा करता है और हार्मोन एस्ट्रोजन को बैलेंस करता है, सामान्यत पपीता को प्रेगनेंट महिलाओं को खाने से मना करते हैं, लेकिन इसकी कम मात्रा में खाने पर वे स्वस्थ्य रहती है।

प्रश्न 3. पपीता किसे नहीं खाना चाहिए
उत्तर – प्रेग्‍नेंसी में, द‍िल के मरीज, एलर्जी वाले लोग गुर्दे में पथरी वाले लोग और हाइपोग्लाइसीमिया वाले रोगी को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए।

प्रश्न 4. पपीता कब खाना चाहिए?
उत्तर – पपीते को आप खाना खाने के पहले या खाने के बाद भी खा सकते हैं। इसे आप रात में भी खा सकते हैं।

प्रश्न 5. टाइफाइड में पपीता खाना चाहिए
उत्तर – हाँ, बिलकुल अगर आप जल्दी ठीक होना चाहते हैं, तो पपीते का सेवन जरूर करें, लेकिन ज्यादा मात्रा में न लें।

प्रश्न 6. पपीता में कौन सा विटामिन पाया जाता है
उत्तर – पापीते के अन्दर विटामिन A और विटामिन 3 बहुतायत मात्रा पायी जाती है। आँखों के रोगी व त्वचा के रोगी को इसका सेवन जरूर करना चाहिए।

प्रश्न 7. बुखार में पपीता खाना चाहिए या नहीं
उत्तर – पपीता का सेवन खांसी, जुकाम और बुखार जैसी समस्याओं में नहीं करना चाहिए। इसका सेवन करने से आपको बुखार से ठीक होने में लम्बा समय लग सकता है

निष्कर्ष –

मैंने आपको खाली पेट पपीता खाने के फायदे और नुकसान और कुछ सावधानियाँ बताया है, इनमें आपको नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। सभी फलों को और पपीता का सेवन मध्यम रूप से करना चाहिए। ज्यादा सेवन आपको कुछ हानिकारक प्रभाव डाल सकता है। पपीता के लाभ और नुकसान को आप समझ ही गए होंगे। अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगे तो अपने मित्रों और परिवार के सदस्यों तक पपीता के गुणों को उन तक पहुचाएं।

Leave a Comment