पतंजलि अश्वगंधा पाउडर के फायदे [ 11 बेहतरीन फायदे ]

आपने अक्सर अपने घरों में बड़े बुजुर्गों से कहते हुए सुना होगा की, अश्वगंधा हमारे शरीर में बहुत सारे रोगों को जड़ से खत्म करने में माहिर है, अश्वगंधा के उपयोग से बहुत सारी बीमारियाँ खत्म हो जाती हैं, इसीलिए आपको इस लेख के माध्यम से मैं आपको पतंजलि अश्वगंधा पाउडर के फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी दूंगा।

अश्वगंधा क्या है?

अश्वगंधा को कैशकार्प नाम से भी जाना जाता है, जो की काफी मशहूर है। इसकी खेती भारत के विभिन्न राज्यों में भारी मात्रा में की जाती है, इसका कारण इसके औषधीय गुण और बढ़ती मांग है, भारत में उत्तर प्रदेश और बिहार में भी इसकी खेती अब बहुत जोरों से हो रही है।

अश्वगंधा की खेती भारत में सबसे ज्यादा राजस्थान और मध्य प्रदेश में बड़े स्तर पर की जाती है तथा स्पेन, मोरक्को, जोर्डन, मिश्र, अफ्रीका, पाकिस्तान, भारत तथा श्रीलंका आदि जैसे बड़े देशों में भी इसकी खेती की जाती है।

अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिसका उपयोग बहुत सी बीमारियों के इलाज में किया जाता है। यह एक खरीफ की फसल है। अश्वगंधा को अंग्रेजी में Winter Cherry (विंटर चेरी) नाम से भी जाना जाता है।

Wikipedia पर अश्वगंधा के बारे में और जाने

बाजार में अश्वगंधा के कई रूप आपको देखने को मिल जाते हैं, लेकिन उनमें से कई अश्वगंधा पाउडर नकली और शरीर के लिए नुक्शानदायक हो सकते हैं। ऐसे में कोई बढियाँ और भरोसेमंद कम्पनी का ही प्रोडक्ट आपको खरीदना चाहिए। ऐसे में आप हिमालया अश्वगंधा पाउडर, डाबर अश्वगंधा चूर्ण या पतंजलि का अश्वगंधा पाउडर अपने घर ला सकते हैं।

योग गुरु बाबा रामदेव का पतंजलि अश्वगंधा पाउडर (Patanjali Ashwagandha Powder) बहुत ही बेहतरीन प्रोडक्ट है, जिसका इस्तेमाल अधिकांश रूप से किया जाता है, इसीलिए इस लेख के माध्यम से आपको पतंजलि अश्वगंधा पाउडर के फायदों के बारे में बताऊंगा और यह भी बताऊंगा की इसे आपको अपने भोजन में कैसे लेना है।

पतंजलि अश्वगंधा पाउडर के फायदे

1. इम्यून सिस्टम के लिए 

इम्यून सिस्टम मजबूत होना कितना जरुरी है, ये आपने कोरोना की महामारी में देख ही लिया होगा, अगर आपके घर में बच्चे या बड़े बुजुर्ग हैं, तो आपको पतंजलि अश्वगंधा पाउडर को घर लाना होगा और अपने परिवार के सदस्यों को इसे देना चाहिए। जिससे उनका इम्यून सिस्टम मजबूत हो ताकि वे अनेक रोगों से अपने आपको बचा सकें।

कैसे उपयोग करें – इसका सेवन परिवार के सभी लोगों को करने के लिए आपको चाय के साथ लेना सबसे बेहतर विकल्प होगा, 4 लोगों पर 1 चम्मच अश्वगंधा पाउडर काफी है, तथा दिन में इसे हर रोज इसका सेवन करें इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होगा और आपका परिवार स्वस्थ्य रहेगा।

2. लिवर रोगों से बचाने में

बढ़ती हुई उम्र में पेट की समस्या होगा स्वाभाविक है, इसमें खाना आपके पेट में अच्छे से नहीं पचता है तथा इसमें लोगों को उल्टी होना जैसी भी समस्या आती है। इसके लिए पतंजलि अश्वगंधा पाउडर (Patanjali Ashwagandha Powder) का सेवन करने से आपको पेट की सभी समस्या बहुत जल्द ही खत्म हो जाएगी और आपका खाना अच्छे से पचने लगेगा।

कैसे उपयोग करें – अश्वगंधा पाउडर को 200 दूध में एक चम्मच अश्वगंधा और 1 चम्मच शहद मिलाकर पीने से लिवर के रोगों को ये जड़ से खत्म कर देता है। इसका सेवन हर रोज करने पर पेट की समस्या कभी नहीं होगी, जिससे आप स्वस्थ्य रहेंगे।

3. यूरिक एसिड कम होगा

यूरिक एसिड बहुत बड़ी समस्या है, जिसे आपको नजर अंदाज बिलकुल भी नहीं करना चाहिए, यूरिक एसिड की समस्या महिलाओं और पुरुषों में दोनों में समान रूप से होता है, जिसमें हड्डियों के जोड़ों पर यूरिक एसिड जम जाने से होता है। इस बीमारी में यूरिक एसिड होने वाले व्यक्ति को चलने में बहुत समस्या होती है।

कैसे उपयोग करें – यूरिक एसिड के मरीजों के लिए अश्वगंधा का उपयोग करने का सबसे अच्छा तरीका गर्म पानी या गर्म चाय में मिला कर पीने से है। यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने के बारे में मैंने पहले भी एक पोस्ट लिखा है जिसे आपको जरूर पढ़ना चाहिए।

यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय

4. यौन क्षमता बढ़ाने में

कई पुरुषों को यौन समस्या होती है, जिससे वे शीघ्रपतन का शिकार हो जाते हैं, ऐसे में उन्हें अश्वगंधा का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। अश्वगंधा यौन शक्ति को बढ़ाने में बहुत ही लाभकारी होता है।

कैसे उपयोग करें – यौन क्षमता बढ़ाने में अश्वगंधा पॉउडर को लेने का सबसे बेहतर और असरदार तरीका है दूध के साथ लेने का, दूध में १ चम्मच पतंजलि अश्वगंधा पाउडर को मिलाएं और दिन में 2 बार सेवन करें। ये प्रक्रिया आपको कम से कम 1 महीने तक जरूर करनी है।

5. नींद की समस्या दूर होगी

बडें बुजुर्गों में नींद ना आना ये एक गम्भीर समस्या बन गया है, इसका कारण मुख्य रूप से स्ट्रेस है, समय के साथ परिवार की चिंताओं या कुछ अन्य कारणों के ऐसा होता है, लेकिन बीमारी के कारण भी नींद न आना ऐसा किसी को भी हो सकता है, नींद न आने की समस्या में भी आप अश्वगंधा पॉवडर को ले सकते हैं।

6. मधुमेह के लिए

अश्वगंधा इंसुलिन के उत्पादन में बहुत मदद करता है जिससे मधुमेह से ग्रसित रोगियों को अश्वगंधा का सेवन करने से बहुत आराम मिलता है, साथ ही पतंजलि का अश्वगंधा शुगर लेवल को भी कम कर सकता है।

कैसे उपयोग करें – पतंजलि अश्वगंधा को 1 से 2 चम्मच (3-6 ग्राम) को घी या पानी में मिलाकर सेवन करने से मधुमेह की समस्या में बहुत लाभ मिलता है।

खाली पेट पपीता खाने के फायदे और नुकसान

7. वजन बढ़ाने के लिए

वजन कम होने की समस्या उन लोगों से पूछे जिन्हें उनके शरीर के कारण प्यार में रिजेक्ट और लोगों द्वारा उनका मजाक उड़ाया जाता है, वजन कम होने से व्यक्ति का शरीर पतला और कमजोर के साथ-साथ जल्दी थकने वाला हो जाता है, जिससे व्यक्ति का मन किसी भी काम को करने में नहीं करता।

इसके कारण ऐसे लोग अक्सर उदास रहते हैं, इसे लेगों को विशेष रूप से अश्वगंधा का सेवन करना चाहिए इससे उनके शरीर का वजन बढ़ता है और वो दिखने में आकर्षित हो जाते हैं, लेकिन ये एक दिन में नहीं होगा, इसके लिए आपको पतंजलि अश्वगंधा पॉउडर का हर रोज सेवन करना होगा।

कैसे उपयोग करें – वजन बढ़ाने के लिए आपको अश्वगंधा पॉउडर को दूध में मिलाकर पीना चाहिए, या तो आप अश्वगंधा का काढ़ा भी पी सकते हैं, काढ़ा बनाने की विधि मैंने नीचे बताई है।

8. पाचन ठीक रहता है

गर्मी का समय है और धूप या लू लग जाना काफी आम बात हो गयी है इससे आपका पाचन बिगड़ जाता है, जिससे आपका खाया हुआ भोजन पचता नहीं है, इसके लिए आप अश्वगंधा पॉवडर का उपयोग कर सकते हैं, इससे आपको पाचन के सम्बन्धित समस्या में लाभ मिलेगा और आप स्वस्थ्य रहेंगे।

कैसे उपयोग करें – पाचन के सम्बन्धित समस्या के लिए आपको दूध में अश्वगंधा के पॉउडर को मिला कर सेवन करना चाहिए, अगर आप चाहें तो इसमें शहद भी मिला सकते हैं।

9. कमजोरी दूर करें

पतंजलि अश्वगंधा पॉवडर के पैकेट्स पर भी बड़े शब्दों में लिखा है कि आप इसका उपयोग थकान और कमजोरी के लिए कर सकते हैं, अगर आप बहुत जल्दी थक जाते हैं, तो इसका इस्तेमाल जरूर करें। अगर आपके बच्चे घर के बाहर खेलते हैं, और घर को आएं तो भी उन्हें इसका सेवन कराएं, इसके उनका स्ट्रेस कम होगा और पढ़ाई में मन भी लगेगा।

10. हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रण करें

अक्सर देखा गया है की हाई ब्लड प्रेशर का कारण स्ट्रेस होता है, अपने स्ट्रेस को दूर करने का सबसे अच्छा उपाय है अश्वगंधा (Ashwagandha) इसका सेवन बच्चे और एडल्ट कोई भी कर सकता है, और अश्वगंधा पॉउडर के सेवन से आपका स्ट्रेस बिलकुल भी खत्म हो जायेगा।

मुलेठी किस रोग की दवा है, फायदे और नुकसान

11. खांसी, जुखाम और बुखार में

बच्चों और बड़े लोगों को सर्दियों में जुखाम और बुखार की समस्या बहुत ज्यादा होती है, इसके लिए अश्वगंधा का पॉउडर इस्तेमाल करने से ज़ुखाम और बुखार में बहुत लाभ मिलता है, अश्वगंधा का इस्तेमाल आप बिना बीमार हुए भी कर सकते हैं, इससे बीमार होने का खतरा पहले से ही कम हो जाता है।

कैसे उपयोग करें – अश्वगंधा का काढ़ा आपको पीना चाहिए इससे बुखार, खांसी और जुखाम से घण्टों में आपको आराम मिलेगा।

पतंजलि अश्वगंधा पाउडर के फायदे

अश्वगंधा पॉउडर का काढ़ा कैसे बनाएं

अश्वगंधा का काढ़ा बनाना बहुत ही आसान है, काढ़ा बनाने का सबसे अच्छा फायदा यह है की यह है की यह आपके शरीर में जल्दी असर करता है और रोगों से जल्दी लड़ता है।

अश्वगंधा का काढ़ा बनाने के लिए आपको लगभग 3 कप पानी में 1 चम्मच अश्वगंधा पाउडर को मिलाकर कम से कम 15 से 20 मिनट तक उबालना है, इसके बाद उसे छननी से छान लेना है, जब काढ़ा हल्का गर्म हो तब इसका सेवन आपको करना है।

सावधानियां-

1. अश्वगंधा पॉउडर लेने से पहले आपको तेल में तला हुआ कोई भी खाना, समोसा, पकौड़ी, आदि ऐसे खाने की चीज जिसमें तेल की मात्रा अधिक होती है उसका सेवन आपको नहीं करना है।

2. पतंजलि अश्वगंधा का हमारे शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं है, लेकिन स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अश्वगंधा का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। इससे गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है।

3. हाई बीपी और डायबिटीज के लिए दवाएं ले रहे हैं, तो अश्वगंधा पॉउडर लेने से पहले आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

4. अश्वगंधा हाई ब्लड प्रेशर वाले रोगी के लिए फायदेमंद है, लेकिन लो ब्लड प्रेशर वाले रोगी अश्वगंधा ले इस्तेमाल से बचना चाहिए या तो डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए

अश्वगंधा की खेती –

अश्वगंधा की खेती के लिए बलुई, दोमट और लाल मिट्टी काफी उपयुक्त होती है, ऐसी मिट्टी में अश्वगंधा का पैदावार बहुत अच्छा होता है। इसकी बुवाई गर्म प्रदेशों में अधिकांश रूप से की जाती है।

  • इसकी खेती के लिए बहुत ज्यादा पानी की आवश्यक नहीं होता।
  • अश्वगंधा वर्षा ऋतु की फसल है।

अश्वगंधा पाउडर की कीमत 2022

पतंजलि  अश्वगंधा पाउडर 80 Rs (100 gram)
buy-now-from-amazon
डाबर  अश्वगंधा चूर्ण 90 Rs (60 Gm) buy-now-from-amazon
हिमालया  अश्वगंधा पाउडर 147 Rs (60 Tablets) buy-now-from-amazon
झंडू
अश्वगंधा पाउडर 349 Rs (60 Tablets) buy-now-from-amazon
पतंजलि अश्वगंधा पाउडर कहाँ से खरीदे?

पतंजलि अश्वगंधा पॉवडर को आप अपने नजदीकी पतंजलि के दुकान से आसानी से खरीद सकते हैं, अगर आपके पास नजदीक में कोई पतंजलि की दुकान नहीं है तो आप Online ई कॉमर्स साइट्स अमेज़ॉन (Amazon) से भी इसे आसानी से खरीद सकते हैं। इसको खरीदने की लिंक आपको ऊपर दी गयी है।

सबसे अच्छा तरीका अश्वगंधा पॉउडर को लेने का-

अश्वगंधा को आप 1 गिलास दूध में 5 ग्राम अश्वगंधा (1 चम्मच) पॉउडर लें, उसे पूरी तरह मिलाएं और ध्यान रहे दूध थोड़ा गर्म रहे इसके बाद इसे पियें। इसका स्वाद आपको पसंद नहीं आएगा, क्योकि ये प्राकृतिक हर्ब है, इसके लिए आप शहद का उपयोग कर सकते हैं, मैं आपको चीनी के उपयोग की सलाह नहीं देता हूँ।

कुछ अन्य जानकारी अश्वगंधा के बारे में-

  • अश्वगंधा के जड़ों को पीसकर इसे चूर्ण के रूप में तैयार किया जाता है
  • अश्वगंधा को इंडियन जिनसेन के नाम से भी जाना जाता है
  • अश्वगंधा का अर्थ होता है घोड़े की गंध
  • पतंजलि अश्वगंधा पाउडर में सिर्फ अश्वगंधा को ही डाला गया है इसके साथ कोई अन्य इंग्रीडिएंट्स नहीं मौजूद है
  • यह 100% प्राकृतिक है, इसमें कोई भी प्रिजर्वेटिव को डाला नहीं गया है
  • अश्वगंधा चूर्ण और कैप्सूल दोनों प्रकार से आता है
  • सबसे अच्छा अश्वगंधा का चूर्ण रूप होता है क्योंकि ये प्राकृतिक होता है जो कि बहुत जल्दी असर करता है और शरीर को ताकत भी देता है

Leave a Comment