अब नहीं लेना डॉक्टरों को मंजूरी, दिल्ली हाइकोर्ट ने लगा दी मुँहर

अब नहीं लेना डॉक्टरों को मंजूरी, दिल्ली हाइकोर्ट ने लगा दी मुँहर-


Delhi ( Corona Virus RTPCR Test )- दिल्ली में कोरोना के बढ़ते हुए मामले को देखते हुए सरकार ने इसे सीरियस लिया है। इसी लिए दिल्ली हाइकोर्ट ने फैसला लेते हुए कहा कि पहले जहाँ Covid-19 के टेस्ट के लिये पहले आरटीपीसीआर ( RTPCR ) की जरूरत पड़ती थी, जिसकी अनिवार्यता को दिल्ली हाई कोर्ट ने आज खत्म कर दिया। दिल्ली हाई कोर्ट ने आदेश देते हुए कहा कि पहले किसी भी व्यक्ति को आरटीपीसीआर ( RTPCR ) टेस्ट कराना हो तो उसे डॉक्टर की पर्ची की जरूरत नहीं पड़ेंगी।

दिल्ली के CM ने की इस बात की पुष्टि- दिल्ली के CM केजरीवाल ने बोला की, दिल्ली में बढ़ते हुए कोरोना के मामले को देखते हुए ये महत्वपूर्ण जानकारी सबको दी। केजरीवाल ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लोगो को बताया कि मैंने स्वास्थ्य मंत्री को आदेश दिया है कि अगर कोई व्यक्ति कोरोना ( Covid-19 ) की जाँच कराना चाहता है तो वो बिना किसी डॉक्टर प्रिस्क्रिप्शन से वो चेक कर सकता है। वो व्यक्ति इस चीज के लिए पुरी तरह से स्वतंत्र है। आपको बता दे कि दिल्ली में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामले की रफ्तार दुगनी होती जा रही थी, जिसपे एक्शन लेना जरूरी था। जिसपे दिल्ली हाई कोर्ट ने अपनी प्रतिक्रिया दी। आपको बता दें कि दिल्ली में पिछले महीने में 20 हजार टेस्ट प्रतिदिन होते थे लेकिन अब ये आंकड़े 40 हजार हो गए हैं।

क्या है मौजूदा हालात भारत की राजधानी दिल्ली का- पिछले दिन सोमवार को दिल्ली में कोरोना के 2 हजार 77 मामले सामने आये, लेकिन इससे संक्रमण की फीसदी दर 7.64 से बढ़कर 9.04 हो गयी है। इससे पहले दिल्ली में रविवार को कोरोना के कम सेम्पल जाँच हुए थे। आपको बता दें कि मौजूदा समय में 32 लोग कोरोना से मौत भी हो गयी। ये आंकड़े 2 महीनों के बाद सबसे ज्यादा है। इससे पहले 24 जुलाई में कोरोना से 32 की मौत हुई थी।

दिल्ली में कुल केस एक लाख 92 हजार से ऊपर- भारत में स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट माने तो दिल्ली में अब तक 1 लाख 93 हजार तक के मामले सामने आ चुके हैं। जिसमे से 1 लाख 68 हजार तक लोग ठीक भी हुए हैं, इसी लिए मरीजो के ठीक होने की दर 87 फीसदी भी है। और कोरोना से मरने वाले लोगो की बात करें तो अब तक 4599 लोगो की मौत भी हो चुकी है, जिससे मृत्यु दर 2.37 फीसदी की है। इस समय मौजूदा हालात में दिल्ली में 20 हजार मौजूद मरीज दिल्ली में हैं।

Leave a Comment